गोंदिया: आंगनवाड़ी सेविकाओं को दिए गए मोबाईल फोन निकृष्ट दर्जे के, प्रकल्प अधिकारी गोरेगांव को सौंपे मोबाईल फोन

253 Views

मोबाईल के हेंग व गर्म होनी की परेशानी, खर्च भी सेविकाओं को उठाना पड़ रहा था..

प्रतिनिधि। 08 सितंबर
गोंदिया। आंगनवाड़ी सेविकाओं को डिजिटाइजेशन के तहत वर्ष 2019 में 2 जीबी की क्षमता वाला मोबाइल फोन दिया गया था। परंतु इस मोबाइल के बार-बार गर्म होने, हेंग होने तथा खराब होने पर दुरुस्ती के नाम पर आंगनवाडी सेविकाओं के वेतन से ही कटौती की जा रही थी। साथ ही केंद्र सरकार द्वारा सेविकाओं को दिए गए पोषण ट्रैकर एप के अंग्रेजी भाषा में होने और रैम की स्पीड कम होने से एप डाउनलोड करने में हो रही परेशानी के चलते आंगनवाडी सेविकाओं द्वारा राज्यभर में मोबाइल वापस किये जाने का क्रम जारी है। इसी क्रम के तहत आज गोरेगांव तहसील के अनेक ग्रामों की आंगनवाड़ी सेविकाओं ने गोरेगांव के एकात्मिक बालविकास  सेवा योजना के कार्यालय में इकट्ठा होकर लगभग 28 मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर अधिकारीयो को निवेदन सौंपा गया।
आंगनवाडी सेविकाओं का कहना है कि ये मोबाइल फोन कम क्षमता का मोबाइल फोन होकर निकृष्ट दर्जे का है। गौरतलब है कि आंगनवाड़ी सेविकाओं पर लाभार्थियों के नाम, हाजरी, वजन, पोषण आहार, स्तनपान, गर्भवती महिलाओं की जानकारी आदि का कार्य आंगनवाड़ी सेविकाओं के कांधे पर है। ऐसे में उन्हें इस मोबाइल के माध्यम से स्मार्ट रहने में भारी दिक्कतो का सामना करना पड़ रहा था।
केंद्र सरकार द्वारा सेविकाओं को दिया गया पोषण ट्रैकर एप इस मोबाइल में डाउनलोड करने में भारी परेशानी निर्माण हो रही थी वही एप मराठी या हिंदी में ना होकर अंग्रेजी में होने से और ज्यादा परेशानी बढ़ गई थी। सेविकाओं का कहना है कि मोबाईल हमें उच्च दर्जे का चाहिए, वही उसमें मराठी व हिंदी का विकल्प होना चाहिए। जब तक शासन द्वारा नया और बेहतर मोबाइल फोन नही दिया जाता तबतक वे मोबाइल फोन बंद रखकर अपना कार्य करेंगे।
इस मोबाईल वापस किये जाने के आंदोलन के दौरान निरंजना बोपचे-कवलेवाड़ा, वंदना शेंडे, योगेश्वरी गौतम, कीर्ति घुलसे डोंगरु टोला, शिल्पा चौधरी कवडीटोला, सोमेश्वरी भगत- पीपर टोला, रत्नमाला मेश्राम बोरगांव 1, लीलावती ठाकुर बोरगांव 2, राजवंती गणवीर उदयटोली, कल्पना गणवीर सुकपुर, समेत नवरगाव सोनेगांव, सहारवानी,चिचगाव टोला, मिलटोली, गनखैरा, तुमखेड़ा, शिवटोली, ढिवरटोली, सटवा, डव्वा, चिचगाव आदि सहित अनेको ग्राम की आंगनवाडी सेविकाओ का समावेश रहा।

Related posts