गोंदिया: बोनस का इंतजार खत्म, पहले चरण में मिली 470 करोड़ रु. की निधि

1,159 Views

प्रफुल्ल पटेल ने की वचनपुर्ती : खरीफ में किसानों को राहत

प्रतिनिधि। 30 जून
गोंदिया : पिछले खरीफ सीजन में महाविकास अघाड़ी सरकार ने जिला विपणन संघ और आदिवासी विकास निगम के धान खरीद केंद्र पर धान बेचने वाले किसानों को 700 रुपये प्रति क्विंटल बोनस देने की घोषणा की थी। हालांकि बोनस मिलने में देरी होने से माहौल बन गया कि मिलेगा या नहीं। लेकिन सांसद प्रफुल्ल पटेल ने वादा किया था कि किसानों को बोनस की राशि मिलेगी। इसी वादे के तहत सतत प्रयासरत होने पर राज्य सरकार की ओर से बुधवार को बोनस के पहले चरण में 470 करोड़ रुपये जारी किए गए।
गौर हो कि धान की खरीद जिला विपणन संघ एवं आदिवासी विकास निगम के माध्यम से की जाती है ताकि किसानों को गारंटीड मूल्य से कम का भाव न मिले। पिछले खरीफ सीजन में महाविकास अघाड़ी सरकार ने सरकारी खरीद केंद्रों पर धान बेचने वाले किसानों को 700 रुपये प्रति क्विंटल, 50 क्विंटल तक बोनस देने की घोषणा की थी।
सांसद प्रफुल्ल पटेल शुरू से ही किसानों के बोनस राशि दिलाने हेतु सतत प्रयासरत रहे। उन्होंने वादा किया था कि गोंदिया-भंडारा जिले के किसानों को बोनस मिलेगा।
आठ दिन पहले उन्होंने उपमुख्यमंत्री अजीत पवार से मुलाकात की थी और बोनस राशि तत्काल जारी करने की मांग की थी। उन्होंने आठ दिनों के भीतर बोनस देने का वादा किया था। सांसद प्रफुल्ल पटेल की चर्चा के बाद आज बुधवार (30 जून) को पहले चरण में बोनस के रूप में 470 करोड़ रुपये का फंड उपलब्ध कराया गया है।
 बोनस की शेष धनराशि अगले 15 दिनों में उपलब्ध करा दी जाएगी। किसानों को बोनस राशि जल्द मिलें इस हेतु पूर्व विधायक राजेंद्र जैन, विधायक मनोहर चंद्रिकापुरे, विधायक राजू कारेमोरे, सांसद प्रफुल पटेल के माध्यम से निरन्तर राज्य सरकार से पत्रव्यवहार कर रहे थे। दोनों जिलों के किसानों ने बोनस राशि उपलब्ध होने पर सांसद प्रफुल पटेल का आभार माना।

पूर्व विदर्भ के पांच लाख धान उत्पादक किसानों को राहत

पूर्व विदर्भ के गोंदिया, भंडारा, गडचिरोली, नागपूर एवं चंद्रपूर जिले में सर्वाधिक धान की फसल ली जाती है। करीब पांच लाख किसानों ने सरकारी धान खरीदी केंद्र में धान की बिक्री की थीं। इन सभी किसानों को बोनस के रूप में निधि प्रदान होने पर खरीफ सीजन में उन्हें राहत प्रदान हुई है। बोनस की रक्कम दो-तीन दिन में किसानों के खातों में जमा होने की शुरुवात होगी ऐसी जानकारी है। 

Related posts