गोंदिया-भंडारा में कोरोना नियंत्रित, संक्रमितों की संख्या में आयी कमी..कोरोना को हराने अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी..

559 Views

प्रतिनिधि। 20 मई
गोंदिया। कोविड के दूसरे लहर के संक्रमण की चैन को अब ब्रेक लगता दिखाई दे रहा है। समूचे राज्य सहित गोंदिया और भंडारा में हालात नियंत्रित होते दिखाई दे रहे है। इसमें मुख्य वजह है सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाऊन और टीकाकरण मुहिम।
 इसके साथ ही जिला प्रशासन के युद्धस्तर पर जारी उपाययोजनाओं, स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड योद्धा के रूप में जारी अपने दायित्व के निर्वहन और जनप्रतिनिधियों द्वारा किये गए कार्यो से ही ये सब संभव हो पाया है। जिसका दोनों जिलो में नागरिकों द्वारा प्रशंसा कर अभिनंदन किया जा रहा है।
वर्तमान कोविड संकट के हालातों की समीक्षा करें तो गोंदिया-भंडारा जिले में स्थिति नियंत्रित दिखाई दे रही है। कोविड से ठीक होने वालों का रिकवरी रेट बड़ा है वही मृत्यु दर कम हुआ है। बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन की व्यवस्था और दवाइयों की स्थिति बेहतर हुई है।
आंकड़ो को देखे तो गोंदिया जिले में अबतक 39 हजार 893 नागरिक कोविड से संक्रमित हुए, जिनमें 37 हजार 386 स्वस्थ्य होकर घर लौटे है। जिले में अबतक कुल 655 नागरिकों की कोविड से मौत हुई, जबकि 1852 लोग अभी इसका उपचार ले रहे है। आज 20 मई के आंकड़े देखे तो 510 मरीज कोविड से ठीक हुए, वही 98 नागरिक संक्रमित हुए है। गोंदिया जिले में ठीक होने का रिकवरी रेट 93.71 है जो कि सुखद खबर है।
इसी तरह भंडारा जिले की स्थिति देंखे तो यहां अबतक 57 हजार 716 नागरिक कोविड से संक्रमित हुए, जिनमें 55 हजार 153 स्वस्थ्य होकर घर लौटे है। जिले में अबतक कुल 1038 मरीजों की मौत हुई, जबकि वर्तमान में 1525 मरीज उपचार ले रहे है। आज 20 मई के आंकड़े देखे तो 231 मरीज कोविड से स्वस्थ हुए है वही 138 मरीजों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। जिले में ठीक होने का रिकवरी रेट 95.55 प्रतिशत है।
हालांकि हालात अभी नियंत्रण में है, पर ये सब हमारी जिम्मेदारी और शासन प्रशासन की जागरूकता व उठाये गए कदमों की वजह से। अगर हमें कोरोना की भगाना है तो इन जिम्मेदारीयों का पालन आगे भी करना होगा, अन्यथा तीसरे चरण के लहर के हम खुद जिम्मेदार होंगे। बशर्ते शासन प्रशासन की गाईड लाइन का पालन करे, यही हमारी और परिवार की रक्षा का मूलमंत्र है।

Related posts