धान पर बोनस का भुगतान तुरंत अदा करें, मंत्री छगन भुजबल से विधायक डॉ. परिणय फुके की मांग..

436 Views

 

प्रतिनिधि।
गोंदिया/भंडारा (8 मई)। पूर्वी विदर्भ के भंडारा, गोंदिया, चंद्रपुर और गढ़चिरौली जिलों को धान उत्पादक जिलों के रूप में जाना जाता है। उपरोक्त जिलों में धान उत्पादक किसान खरीफ सीजन के दौरान धान की फसल बड़े पैमाने पर लगाते है। परंतु पिछले पांच माह से इन जिलों में धान की फसलों पर बोनस राशि का भुगतान न होने पर किसान की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। इस स्थिति से किसानों को उभारने आर्थिक मजबूती प्रदान करने के साथ ही बोनस राशि का त्वरित भुगतान किए जाने पूर्व मंत्री डॉ. परिणय फुके ने महाराष्ट्र सरकार से की है।

विशेष है कि खरीफ सीजन के आते ही फसलों के उत्पादन को लेकर चिंतित किसान बैंकरों और साहूकारों से कर्ज लेकर फसलों की खेती करते है। धान के उत्पादन के पैदावार को लेकर, किसान दिन-रात विभिन्न तरीकों से फसलों की रक्षा करते हैं। लेकिन कभी-कभी किसानों को जलवायु परिवर्तन, कभी आसमानी संकट और कभी-कभी जमीनी संकट का सामना करना पड़ता है।फसलों के लिए लिया गया कर्जा भी किसानों को निर्धारित अवधि के भीतर चुकाना पड़ता है, इसलिए वे धान खरीद केंद्र पर मूल गारंटीकृत मूल्य बेचते हैं ताकि सरकार द्वारा घोषित मूल्य और बोनस राशि को समय पर प्राप्त किया जा सके।

लेकिन पाँच महीने के अंतराल के बाद भी, किसानों को बोनस राशि का भुगतान नहीं किये जाने पर किसानों के समक्ष वित्तीय अभाव का संकट निर्माण हो गया है।

किसान इस साल के खरीफ सीजन की शुरुआत से पहले धान पर बोनस की मांग कर रहे हैं। किसानों के इस मामले पर त्वरित संज्ञान लेकर पूर्व मंत्री व भंडारा-गोंदिया क्षेत्र के विधानपरिषद सदस्य डॉ. परिणय फुके ने राज्य के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल से किसानों को तत्काल बोनस अनुदान देने की मांग एक पत्र प्रेषित कर की है।

Related posts