गोंदिया: 24 घंटो में उपलब्ध हो कोरोना रिपोर्ट, नई प्लाज्मा और RTPCR मशीन को मंजूरी- स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे

354 Views

पालकमंत्री ने लिक्विड ऑक्सीजन टैंक को त्वरित शुरू करने दी मंजूरी

सांसद प्रफुल पटेल ने व्यवस्था में सुधार के निर्देश देकर निजी अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी, सिटी स्कैन के दर सरकारी दरों में लेने के निर्देश दिए..

प्रतिनिधी।
गोंदिया। जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों एवं स्वास्थ्य व्यवस्था में फैली बदहाल व्यवस्था से गंभीर सांसद प्रफुल पटेल की पहल पर दौरे पर आये स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, गृहमंत्री व पालकमंत्री अनिल देशमुख तथा स्वास्थ्य शिक्षण मंत्री अमित देशमुख ने गोंदिया सरकारी मेडिकल कॉलेज, केटीएस सामान्य जिला रुग्णालय, कोविड आइसोलेशन वार्ड का मुआयना किया तथाडॉक्टरों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाया वही मरीजों एव अन्य लोगो से समस्याओं का संज्ञान लिया। इस अवसर पर मंत्रीद्वय के हस्ते नई सिटी स्कैन मशीन का शुभारंभ भी किया गया।

इस दौरान पूर्व विधायक राजेंद्र जैन एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारीयों द्वारा स्वास्थ्य मंत्रियों से बातचीत कर वर्तमान कोरोना संकट से अवगत कराया गया एवं बदहाल व्यवस्था को पटरी पर लाने उचित पर्यायी व्यवस्था की मांग की।

सांसद प्रफुल पटेल की प्रमुख उपस्थिति में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, गृहमंत्री अनिल देशमुख एवं स्वास्थ्य शिक्षण मंत्री अमित देशमुख ने जिलाधिकारी कार्यालय में कोरोना के वर्तमान हालातों को लेकर जिलाधिकारी दीपक कुमार मीणा सहित अन्य स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक ली।

बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना संक्रमण की जांच हेतु प्राप्त रिपोर्ट में हो रही देरी पर नाराजी व्यक्त कर रिपोर्ट 24 घंटो के भीतर मिलने हेतु आदेश दिए। इसके साथ ही नई आरटीपीसीआर व प्लाज्मा मशीन को मंजूरी देकर त्वरित शुरू करने के आदेश दिए। उन्होंने कहा इलाज के लिए इस बात का खास ख्याल रखा जाए कि रेमडीसिविर इंजेक्शन की कमी न होने पाए।

स्वास्थ्य मंत्री श्री टोपे ने निजी अस्पतालों में संक्रमित व्यक्तियों के इलाज के लिए प्रत्येक अस्पताल में एक शासकीय कर्मचारी की नियुक्ति करने का आदेश दिया वही प्राइवेट अस्पतालों को नसीहत दी कि वे सरकारी दरों पर मरीजों का इलाज करें अन्यथा उनपर कार्यवाही करने के आदेश दिए। स्वास्थ्य व्यवस्था हेतु डॉक्टरों एवं स्टाफ की कमी के मामले पर श्री टोपे ने कहा, डॉक्टरों और स्टाफ की परमानेंट नियुक्ति का अधिकार जिलाधिकारी को दिया गया है। वे त्वरित नियुक्ति आदेश जारी कर स्वास्थ्य व्यवस्था बहाल करें।

सांसद प्रफुल पटेल ने स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने के साथ साथ प्राइवेट अस्पतालों में सिटी स्कैन एवं प्लाज्मा थेरेपी सरकारी दरों में किये जाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही पालकमंत्री श्री देशमुख का ध्यानकेन्द्रित कर ऑक्सीजन सिलेंडरों की हो रही कालाबाजारी पर संज्ञान लेकर ऐसे कृत्य करने वालो पर फौजदारी मामले दर्ज करने बात की। श्री पटेल ने बैठक में कोविड सेंटर में भर्ती मरीजों के बेहतर भोजन की व्यवस्था पर भी ध्यानकेन्द्रित किया।

इस दौरान पालकमंत्री व गृहमंत्री अनिल देशमुख ने श्री पटेल के सभी मामलों को संज्ञान में लिया व अधिकारियों को निर्देश दिए। इसके अलावा लिक्विड ऑक्सीजन टैंक को मंजूरी देकर इस कार्य को त्वरित शुरू करने के भी आदेश दिए।

इस बैठक में जिलाधिकारी दीपक कुमार मीणा, पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे, मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक डॉ. तिरपुडे, जिला सर्जन रामटेके, जिला स्वास्थ्य अधिकारी निमगडे, मुख्य अधिकारी खवले, निदेशक श्रीमती अर्चना पाटिल (स्वास्थ्य विभाग, पुणे), विधायक मनोहर चंद्रिकापुरे, विधायक राजू कारेमोरे, पूर्व विधायक राजेंद्र जैन, विधायक सहसराम कोरोटे, पूर्व सांसद खुशाल बोपचे, राका जिला अध्यक्ष पंचम बिसेन, देवेंद्रनाथ चौबे और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts