गोंदिया: दर्रेकसा के आंबाटोला जंगल में पुलिस-नक्सलियों के बीच टकराव, अंधाधुंध फायरिंग कर फरार हुए 18-20 नक्सली

3,251 Views
प्रतिनिधि।
गोंदिया। सालेकसा के दर्रेकसा स्थित आंबाटोला जंगल परिसर में नक्सली विरोधी अभियान के तहत आज पुलिस पार्टी के सर्चिंग ऑपरेशन में सुबह 8 बजे के दौरान पुलिस और नक्सलियों के बीच आमना-सामना हो गया। नक्सली हथियार से लैस हरे रंग की वर्दी में करीब 18 से 20 की सँख्या में थे। 
पुलिस टीम से, नक्सली महज 50 मीटर की दूरी पर थे। पुलिस ने नक्सलियों को आत्मसमर्पण करने का आव्हान किया। परंतु 18-20 की संख्या में मौजूद नक्सलियों ने पुलिस पार्टी पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस को अपने बचाव में जवाबी फायरिंग करना पड़ा, जिससे नक्सली घने जंगल का सहारा लेकर फरार हो गए।
  पुलिस पथक ने घटनास्थल पर सर्चिंग अभियान के तहत दर्रेकसा दलम व प्लाटून 55 दलम के 18 से 20 नक्सलियों के खिलाफ सालेकसा थाने में अलग अलग मामलों पर गुनाह दर्ज करने की कार्रवाई समाचार लिखे जाने तक जारी थी। इस मामले पर खोज पड़ताल का कार्य गोपनीय सूचनाओं के आधार पर पुलिस टीम, गोंदिया के पुलिस उपविभागिय अधिकारी व आमगांव के प्रभारी एसडीपीओ जगदीश पांडे द्वारा की जा रही है।
   गौरतलब है कि भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित नक्सली संगठन के गोंदिया जिले के सालेकसा थानांतर्गत हाजराफाल, कोपालगड़, मरामजोब, महामाया पहाड़ी टॉवर लाइन भाग में नक्सली किसी बड़े हमले के इरादे से घूम रहे है ऐसी गोपनीय जानकारी सहायक पुलिस निरीक्षक प्रमोदकुमार बघेले को मिली थी।
   पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी के मार्गदर्शन में विशेष अभियान चलाकर सालेकसा में तुरकर पथक, नवेगांवबांध में काटँगे पथक व बीडीडीएस टीम सर्चिग कर रही थी। इस दौरान आज सालेकसा के दर्रेकसा स्थित आंबाटोला जंगल में पुलिस पार्टी व नक्सली आमने सामने टकरा गए, जहाँ दोनों के बीच अंधाधुंध गोलीबारी के साथ झड़प हुई।

Related posts