गोंदिया: संविधान मैत्री संघ व मित्र संघटनांओ द्वारा विविध क्षेत्र मे निस्वार्थ सेवा देनेवालेे योद्धाओं को संविधान मित्र पुरस्कार से किया सम्मानित..

291 Views

 

प्रतिनिधि।

गोंदिया: समाज में संविधान संस्कृती का निर्माण हो इस उद्देश्य से संविधान मैत्री संघ व मित्र संघटनाओ द्वारा प्रजासत्ताक दिन 26 जनवरी को “संविधान का सम्मान” जागृती कार्यक्रम अंतर्गत समाज मे अपने उल्लेखनीय कार्य कौशल से विविध क्षेत्र मे नि:स्वार्थ सेवा देनेवाले समाजसेवीयों को “संविधान मित्र पुरस्कार” सामाजिक न्याय विभाग महात्मा फुले मागासवर्गीय विकास महमंडल जिला व्यवस्थापक विनोद ठाकुर, बार्टी के नागपुर विभागीय व्यवस्थापक हृदय गोडबोले, समता दुत करुणा मेश्राम, शारदा कळस्कर इनके हस्ते, संविधान मैत्री संघ संयोजक अतुल सतदेवे, प्रा. ड़ॉ. दिशा गेडाम, महेंद्र कठाने, डॉ. राजेन्द्र वैद्य, सर्वसमाज जयंती समिती के अध्यक्ष पुरुषोत्तम मोदी, मुस्लिम मॉयनोरिटी ट्रस्ट के महताब खान, ज्येष्ठ नागरिक वसंत गवली, अवंतीआई लोधी महासभा के शिव नागपुरे, समता सैनिक दल कमांडर राजहंस चौरे, माणिक गोंडाने, माधुरी पाटील, आदेश गणवीर, लक्ष्मी राऊत, आभा मेश्राम, बबिता भालाधरे, कीरण वासनिक इनके प्रमुख उपस्थिती में प्रदान किया गया.
अनेक वर्षो से अपने कुशल लेखन कार्य से समाज जागृती का कार्य करनवाले वरीष्ठ पत्रकार माणिक गेडाम इन्हे “पत्रकार रत्न” पुरस्कार, शिक्षा के क्षेत्र मे नि:शुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम चलानेवाले व उल्लेखनीय कार्य करने हेतू “शिक्षण सेवा रत्न” पुरस्कार प्रा. विनोद माने इन्हे प्रदान किया गया, आरोग्य क्षेत्र मे रक्तदान शिवीर लेने, कोविड काल में प्लाज़्मा थेरपी व मरिजो की विशिष्ट सेवा प्रदान करने हेतू “आरोग्य रत्न पुरस्कार” शासकीय BGW हॉस्पिटल ब्लड बैंक जनसंपर्क अधिकारी अनिल गोंडाने इन्हे प्रदान किया गया. समाज मे संविधान संस्कृती निर्माण हो इसका प्रयास करते हुये अपने वक्ततव्य के माध्यम से समाज प्रबोधन करने हेतू “प्रबोधन रत्न” पुरस्कार शब्बीर पठाण इन्हे प्रदान किया गया, साहित्य क्षेत्र से जनजागृती करने हेतू “साहित्य रत्न” पुरस्कार मुन्ना नंदागवली, कला के माध्यम से समाज जागृती हेतू “कला रत्न” पुरस्कार हरीश्चंद्र लाडे, विविध क्षेत्र मे सेवा देकर उल्लेखनीय कार्य कर रहे उमाताई गजभिये इन्हे महिला रत्न पुरस्कार, विविध कला गुण रखनेवाली अर्जुनी मोरगाव की विद्यार्थिनी अशफियाँ रसूल शेख इन्हे बालरत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया. पर्यावरण रक्षा व अमन शांती व एकता का संदेश देते हुये हजारो किलोमीटर सायकल यात्रा करनेवाले अशोक मेश्राम इन्हे “क्रिडा रत्न” पुरस्कार, तो विविध कम्युनिटी वर्ग को संघटित करने का निरंतर प्रयास कर रहे आमगाव के योगेश रामटेके इन्हे “समता रत्न” पुरस्कार प्रदान किया गया. सर्वसामान्य के शासकीय मामलो-कार्यो में सहायक आनंद बोरकर इन्हे “न्याय रत्न” पुरस्कार तर गोरगरिब जरुरत मंद हेतू एव्ं बचत गट के माध्यम से महिलाओ को रोजगार उपलब्ध कराने हेतू “रोजगार सेवा रत्न” पुरस्कार जयेश रामादे- सह्योग समूह इन्हे प्रदान किया गया, सामाजिक रुप से निस्वार्थ सेवा दे रहे संघटन पाटलिपूत्र बुद्ध विहार महिला मंडल गोंदिया इन्हे “समाज सेवा रत्न” पुरस्कार, तो “ज्येष्ठ नागरी रत्न” पुरस्कार संघटनात्मक रुप से स्थानीक वरीष्ठ नागरिक मित्र मंडल को प्रदान किया गया. शिक्षा ग्रहण करने के साथ समाज जागृती करने हेतू कु.चेतना रामटेककर इन्हे “युवा रत्न” पुरस्कार, निस्वार्थ समाजसेवा हेतू चंद्रशेखर तिरपुडे इन्हे “समाज रत्न” पुरस्कार, गाँव गाँव शराबबंदी हेतू जनजागृती करनेवाली विजुताई उके इन्हे संविधान मित्र पुरस्कार स्वरुप स्मृती चिन्ह, संविधान ग्रंथ, एव्ं शॉल प्रदान कर सम्मान किया गया .
इस अवसर पर ओबिसी समाज मे शैक्षणिक व समाज जागृती करने हेतू अवंतीआई लोधी महासभा के शिव नागपुरे, भाईचारा बंधुत्व कायम करने हेतू मुस्लिम मायनोरिटी ट्रस्ट के महताब खान इन्हे संविधान ग्रंथ एव्ं प्रास्ताविका छायाचित्र भेंट स्वरुप देकर गुणगौरव किया गया.
इस अवसर पर सामुहिक राष्ट्रगान, संविधान प्रस्ताविका का वाचन किया गया. सामाजिक न्याय विभाग व बार्टी की ओर से संविधान मैत्री संघ के जनजागर कार्यो का संविधान साहित्य देकर गुण गौरव किया गया.
कार्यक्रम का संचालन प्रा. डॉ.दिशा गेडाम, प्रास्ताविक अतुल सतदेवे व उपस्थितो का आभार व्यक्त महेंद्र कठाने इन्होने किया.
संविधान मैत्री संघ तथा मित्र संघटनो द्वारा इस वर्ष से विभिन्न क्षेत्रों में दिए जाने वाले “संविधान मित्र” पुरस्कार के लिए निर्धारित प्रारूप में पात्र नामांकन प्रस्ताव जिले के पात्र व्यक्तियों से आमंत्रित किए गए थे। पात्र व्यक्तियों को “संविधान मित्र” पुरस्कार के लिए निर्धारित योग्यता और मानदंड के अनुसार स्पष्ट सिफारिशों के साथ विभिन्न सामाजिक संगठनों के विशेषज्ञों द्वारा चुना गया था। “संविधान मित्र पुरस्कार” जिले का पहला सार्वजनिक रूप से प्रदान किया जानेवाला पुरस्कार है। इस पुरस्कार में निस्वार्थ उत्कृष्ट सेवा कार्य को प्राथमिक मान्यता दी गयी है।

Related posts