छोटा गोंदिया प्राचीन मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए आगे आये शिवसेना जिलाप्रमुख मुकेश शिवहरे..

219 Views

5 लाख के स्वयं खर्च से, शुरू करवाया कार्य प्रारंभ..

26 जून। गोंदिया
हिंदू धर्म में हमारे आराध्य देव के पवित्र मंदिर सदा से ही समाज तथा भारतीय सभ्यता के केंद्रबिंदु रहे हैं. हमारे मंदिर मात्र पूजा अर्चना का केंद्र नहीं अपितु हमारी पहचान, हमारा स्वाभिमान होते हैं, वे हमारी अस्मिता का प्रतीक हैं. इन मंदिरों में गोंदिया शहर के छोटा गोंदिया परिसर का प्राचीन मंदिर विट्ठल रुख्मिनी एवं भगवान शिव का बैद्यनाथ धाम हमारे पूर्वजों से चली आ रही पीढ़ी के आस्था का केंद्र रहा है। इनका संवर्धन अब हमारी जिम्मेदारी है। उक्त प्रतिक्रिया शिवसेना जिलाप्रमुख एवं मां विध्यवासिनी के भक्त मुकेश शिवहरे ने व्यक्त किये।

शिवसेना जिलाप्रमुख मुकेश शिवहरे ने देखा कि हमारी सभ्यता के केंद्रबिंदु एवं हमारी अस्मिता के प्रतीक प्राचीन शिव बैद्यनाथ धाम मंदिर पुरानी अवस्था में ही है। करोड़ो रुपयों की निधि सड़क, नाली, गल्ली में फुकने वाले जनप्रतिनिधियों ने आज तक इस प्राचीन मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए आगे न आना बड़ी शोकांतिका की बात है।

मुकेश शिवहरे ने इस परिस्थिति पर स्वयं भक्त के रूप में आगे आकर इस प्राचीन मंदिर के जीर्णोद्धार के लिये अपने स्वयखर्च से 5 लाख रुपयों की राशि से मंदिर के कार्य को प्रारंभ कराकर सरहानीय कार्य किया।

इस दौरान शिवहरे ने कहा, मंदिर हमारी पहचान है। हमारे अस्मिता के प्रतीक है। मैंने मंदिर के लिए छोटा सा प्रयास किया ये मेरा सौभाग्य है। भविष्य में मेरे प्रयास रहेंगे की मैं शासन स्तर पर भी कुछ बेहतर करूँ।

शिवसेना जिलाप्रमुख मुकेश शिवहरे के इस नेक व दिव्य कार्य पर परिसर के नागरिकों ने उनका आभार व्यक्त किया और उनपर भगवान शिव का आशिर्वाद बना रहे ऐसी कामना की।

इस दौरान मुकेश शिवहरे के साथ ही, कुशल नेवारे (रेलवे कामगार सेना जिलाप्रमुख), आयुष अग्रवाल (शहर उपप्रमुख), संतोष पटले (शहर उप प्रमुख), पप्पुजी शेन्डे, देवराम बिसेन, श्याम बिसेन, गजेन्द्र शनवारे, विष्णू नागरीकर, देवराम
मंगेश बनकर, दीपक बिलोने, देवराम बनकर, राज तुरकर, साहिल भूते, मनोज ( सल्लू) पटले, कमलेश पटले, अशोक बिसेन, मोहन ठाकरे, विलास काशीकर, रंजित गौतम, प्रवीण बिलोने, शांतनू वाघमार, जितेश बिसेन, संतोश बिसेन, बालु उपरीकर, बालु तुरकर, विजय बिलोने,धनलाल बिलोने, देवचंद्र बिलोने, विजय बिलोने, विलाश भगत सहित अनेक छोटा गोंदिया के निवासियों की उपस्थिति रही।

Related posts