गोंदिया: प्रॉपर्टी डीलर महेश दखने मर्डर केस के 4 आरोपी गिरफ्तार, आर्थिक लेनदेन पर हुई हत्या..

1,676 Views

आरोपियों का 15 जून तक पुलिस रिमांड..

गोंदिया। 10 जून
9 जून के सुबह घर से किसी काम के लिए निकले प्रॉपर्टी डीलर महेश दखने 36 वर्ष की किन्ही अज्ञातों ने गोंदिया शहर के पूर्वी बायपास स्थित किसान चौक, छोटा गोंदिया में सुनियोजित साजिश के तहत घेरकर हत्या के इरादे से जानलेवा हमला कर। फरार हो गए थे। इस हमले में बुरी तरह घायल महेश दखने ने कल रात दम तोड़ दिया।
पुलिस ने इस वारदात के कुछ घँटे बाद ही चार आरोपियों को हिरासत में लेकर इस हत्या के कारणों से पर्दा उठाया है।
पुलिस उपविभागीय अधिकारी रोहिणी बनकर ने आज पत्र परिषद लेकर प्रेस को जानकारी दी कि, मृतक महेश विजय कुमार दखने उम्र 36 वर्ष निवासी छोटा गोंदिया प्रोपर्टी का व्यापार करता था। आरोपियों से उसकी आर्थिक लेनदेन को लेकर तनातनी थी। आरोपियों ने इसी लेनदेन को लेकर मृतक पर जानलेवा हमला किया जिसमें महेश दखने की उपचार के दौरान मौत हो गई।
इस मामले पर पहले शहर थाना पुलिस ने भादवि की धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया जो बाद में भादवि 302, 34 के तहत हत्या में तब्दील कर दिया गया।
पुलिस ने इस हत्या के मामले पर आरोपियों में देवेन्द्र उर्फ देवा कापसे 48 निवासी शिवमंदिर, आंबाटोली, फुलचुर, सुरेंद्र मटाले उम्र 32 निवासी शिवनी, इंदिरानगर तहसील आमगांव, मोरेश्वर मटाले उम्र 26 वर्ष निवासी मोहगांव तहसील आमगांव एवं नरेश नारायण तरोने उम्र 38 निवासी आरटीओ ऑफिस के पास, गोंदिया को हिरासत में लिया है।
प्रथम जांच के तहत ये बात सामने आई है कि आरोपीयों ने किसी हतोड़ेनुमा हथियार से सिर पर वार कर किया। अत्यधिक रक्त स्त्राव होने से व सिर पर गंभीर चोटे आने से महेश दखने की देर रात उपचार के दौरान मौत हो गई।
आरोपियों को कोर्ट में पेश कर 15 जून तक पुलिस रिमांड में लिया गया है। पुलिस इस प्रकरण पर आरोपियों से पूछताछ कर और भी तह तक जाने का प्रयास कर रही है। बताया गया कि इस हत्या प्रकरण का मुख्य आरोपी देवेन्द्र उर्फ देवा कापसे है। देवा कापसे पर पूर्व में 324 भादवि का मामला दर्ज है जबकि नरेश तरोने पर हत्या जैसे संगीन अपराध सहित 7 मामले दर्ज है।
इस मामले की आगे की जांच पुलिस अधीक्षक निखिल पिंगले, अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानन्द झा, एसडीपीओ रोहिणी बनकर के नेतृत्व में गोंदिया शहर थाना के पीआई चंद्रकांत सूर्यवंशी के मार्गदर्शन में पुलिस उपनिरीक्षक श्री वानखेड़े कर रहे है।
आरोपियों को पकड़ने में सहायक पुलिस निरीक्षक सोमनाथ कदम , संजय पांढरे , पुलिस उप निरीक्षक सोंदाने , चन्नावार , घनश्याम थेर , पुलिस हवलदार जागेश्वर उईके , सुदेश टेंभरे , कंवलपाल सिंग भाटिया , निशिकांत लौंदासे , दीपक रहांगडाले , सतीश शिंदे , प्रमोद चौहान , रीना चौहान , श्याम कुमार कोरे , संतोष भेंडारकर , पुलिस सिपाही दिनेश बिसेन , मुकेश रावते, सुभाष सोनवाने , कुणाल बारेवार आदि ने सहकार्य किया।

Related posts