GONDIA: “पडोले” के लिए पटोले ने झोंकी शक्ति सारी, अब राहुल गांधी की तैयारी…

825 Views

क्या नाना पटोले महायुति पर पड़ेंगे भारी..??

गोंदिया। 19 अप्रैल को होने जा रहे प्रथम चरण के लोकसभा चुनाव हेतु राजनीतिक दंगल अब अपनी चरम सीमा पर आ गया है। चुनावी नूराकुश्ती में महायुति उम्मीदवार के जीत के लिए भाजपा ने कम कसकर फडणवीस, शिंदे, शाह और अन्य स्टार प्रचारक को मैदान में उतार दिया है, वही राकांपा के प्रफुल्ल पटेल भी अपनी ताकत दिखाने का प्रयास कर रहे है।
महायुति के उम्मीदवार को इस बार पछाड़ने के लिये महाविकास आघाडी के प्रशांत पडोले को विजयी दिलाने नाना पटोले ने अपनी सारी शक्ति झोंक दी है। चुनावी दंगल में नाना पटोले की भूमिका अकेले महायुती पर भारी पड़ रही है। 25 साल बाद इस क्षेत्र से पंजा को जिताने एड़ी चोटी का जोर लगाया जा रहा है। मरी हुई कांग्रेस में जान फूंकने का प्रयास किया जा रहा है।
कहा जाता है कि, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष नाना पटोले राजनीति के खेल में महारत हासिल है। एक लोकसभा चुनाव को छोड़ दे तो अबतक हर चुनाव में उनके सिर, जीत का सेहरा बंधा है। एकबार विधानसभा और एकबार लोकसभा को जीतकर उसे छोड़ने का रिकॉर्ड भी उनके नाम है। नाना ने जिसके कंधे पर हाथ रख दिया, उसकी फतह हुई है। नाना पटोले ने राष्ट्रीय नेता कहेजाने वाले प्रफुल्ल पटेल को भी हार का मजा चखाया है।
महायुति के उम्मीदवार सुनील मेंढे के प्रचार के लिए जहां पूरी भाजपा, एनसीपी, शिंदे शिवसेना ताकत से जुटी हुई है। वही अबतक नाना पटोले पूरे चुनाव को अकेले स्टार प्रचारक बनकर कवर कर रहे है। शरद पवार गुट के रोहित पवार की सभा के बाद अब नाना पटोले कांग्रेस के आइकॉन राहुल गांधी को लाने की तैयारी कर रहे है।
कुल मिलाकर भंडारा-गोंदिया संसदीय क्षेत्र का लोकसभा चुनाव राजनीति धुरंदरों से तपा हुआ है। इस सीट का इतिहास रहा है कि यहाँ एक बार जीतने वाला दूसरी बार हार जाता है। इसका मजा भाजपा, एनसीपी ने भी चखा है। कांग्रेस को 25 साल बाद मौका मिला है। अब कांग्रेस की स्थिति क्या रहती है ये 19 अप्रैल के चुनाव के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा।

Related posts