टूटे ओवर ब्रिज की जगह नए पुल के निर्माण कार्य का शुभारंभ, डेढ़ साल में बनेगा नया ब्रिज- वि.विनोद अग्रवाल

934 Views

सांसद प्रफुल पटेल की गंभीरता से शुरू हुआ कार्य शुभारंभ- राजेन्द्र जैन

प्रतिनिधि। 6 जनवरी
गोंदिया। शहर में अंग्रेजों के जमाने का ओवर ब्रिज कहा जाने वाला पुराना पुल टूटने से शहर के दोनों छोर के नागरिक, व्यापारियों, छात्रों को भारी समस्या निर्माण हो रही थी। टूटे पुल की जगह नए ब्रिज के निर्माण को लेकर अनेक दिनों से मांग उठ रही थी, पर प्रशासकीय स्तर पर काम की शुरुवात में लेटलतीफी की जा रही थी।
अंततः इस पुल के नए निर्माण कार्य को लेकर आज 6 जनवरी को उपस्थित नागरिकों, स्थानीय नेताओ एवं विधायक विनोद अग्रवाल, पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन की उपस्थिति में सार्वजनिक बांधकाम विभाग द्वारा निर्माण कार्य का शुभारंभ किया गया।
पुल निर्माण कार्य के शुभारंभ पर विधायक विनोद अग्रवाल ने कहा, पुल की कुल लागत करीब 50 करोड़ रुपये है। पुल का निर्माण पुराने पैटर्न पर किया जाएगा। वहीं शहर में मरारटोली रेलवे ब्रिज एवं हड्डीटोली रेलवे ब्रिज की शुरुवात भी जल्द होगी। उन्होंने ये भी कहा पुराने पुल को छोड़कर दोनों ब्रिज में ऊपर से जाने के साथ ही नीचे से जाने का रास्ता भी होगा।
विनोद अग्रवाल ने कहा, हम नागरिकों, व्यापारियों, छात्रों एवं आवागमन करने वालो की समस्या समझते है। हमनें इस नए पुल का निर्माण जल्द से जल्द हो इस हेतु डेढ़ साल के भीतर कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए है।
पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन ने कहा, निधि आने के बावजूद पुल निर्माण में हो रही देरी, एवं बार बार आ रही शिकायतों से सासंद प्रफुल्ल पटेल को अवगत कराया गया था। उन्होंने इस मामले का गंभीरता से संज्ञान लेकर इसके निर्माण कार्य को जल्द शुरू करने के निर्देश दिए थे। वही किसी भी प्रकार से आने वाली बाधाओं को दूर करने आश्वस्त भी किया था। उसी का प्रतिफल है कि इस पुल का निर्माण कार्य की शुरुवात आज श्रीगणेश कर की गई।
इस दौरान, विधायक विनोद अग्रवाल, पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन, घनश्याम पानतवने, कशिश जायसवाल, धर्मेश अग्रवाल, अखिलेश सेठ, मनोहर वालदे, जनकराज गुप्ता, अशोक सहारे, केतन तुरकर, दीपक बोबडे, सचिन शेंडे, चंचल चौबे, रवि मुंदड़ा, धर्मेंद्र डोहरे, विनीत सहारे, सुनील पटले, शैलेश वासनिक, जिम्मी गुप्ता, इकबाल सैय्यद, रफीक खान, कपिल बावनथड़े, नागों बंसोड़, रौनक ठाकुर आदि सहित सार्वजनिक बांधकाम विभाग के अधिकारी, पुल निर्माण एजेंसी के ठेकेदार उपस्थित रहे।

Related posts