गोंदिया: पाँच अपराधी 30 दिन के लिए जिला बदर…

599 Views

पुलिस की अपराधियों से गैर कृत्य छोड़ रोजगार की ओर रुख करने की अपील…

प्रतिनिधि। 12 अक्तूबर
गोंदिया। जिले के केशोरी थाना क्षेत्र अंतर्गत
अवैध शराब बिक्री, झगड़ा, छेड़छाड़ से संबंधित अनेक मामलों में लिप्त पांच अपराधियों के कृत्यों को देख उन्हें 1 माह के लिए जिला बदर किया गया है।
पुलिस द्वारा इनके खिलाफ बार-बार प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के बावजूद वह नहीं सुधर रहे थे। उक्त अपराधीयों के कृत्यों से क्षेत्र में सार्वजनिक शांति एवं व्यवस्था को खतरा उत्पन्न हो गया है, इसलिए सहायक पुलिस निरीक्षक, सोमनाथ कदम पुलिस थाना केशोरी ने इनके विरुद्ध धारा 56(ए), (बी) के तहत उपविभागीय अधिकारी एवं उपविभागीय दंडाधिकारी को प्रस्ताव दिया था। उन सभी को गोंदिया जिले की सीमा से निर्वासित (जिला बदर) करने के लिए महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम की मंजूरी के लिए इसे अर्जुनी मोरगांव में प्रस्तुत किया गया था।
उपविभागीय अधिकारी एवं उपविभागीय दंडाधिकारी, अर्जुनी/मोर, के आदेश पर उपविभागीय पुलिस अधिकारी देवरी, संकेत देवलेकर ने उक्त निर्वासन प्रस्ताव की प्रारंभिक जांच निर्धारित समय के भीतर पूरी कर उक्त अपराधीयों को गोंदिया जिले की सीमा से सीमा बाहर करने की अनुशंसा की.
तदनुसार, उपविभागीय अधिकारी और उपविभागीय मजिस्ट्रेट, अर्जुनी मोर मा. वरुणकुमार जनार्दन सहारे ने आदेश दिया है कि सभी 5 व्यक्तियों 1) गणेश मुखरू कांबळे रा. प्रतापगड, 2) महेश मिश्रीलाल राठी रा. गोठनगाव, 3) धनंजय संतोष राठी रा. गोठनगाव, 4) जितेंद्र तुळशीराम गजभिये रा. गोठनगाव, 5)सिंधू जितेंद्र गजभिये रा. गोठनगाव को 1 महीने तक की अवधि के लिए गोंदिया जिले से निर्वासित किया जाता है।
गोंदिया जिला पुलिस और उपविभागीय अधिकारी व उपविभागीय दंडाधिकारी अर्जुनी मोरे की कार्रवाई से अवैध गतिविधियां करने वाले अपराधियों के होश उड़े हुए हैं और केशोरी पुलिस स्टेशन की कार्रवाई पर नागरिकों ने संतोष व्यक्त किया है.
उक्त कार्रवाई पुलिस अधीक्षक गोंदिया निखिल पिंगले, अपर पुलिस अधीक्षक देवरी कैंप अशोक बनकर के मार्गदर्शन में की गई है.
पुलिस अधीक्षक गोंदिया के मार्गदर्शन में आगे भी अवैध कृत्य करने वाले अपराधियों के खिलाफ निर्वासन की कार्रवाई के लिए पुलिस सख्त रूप में है। गोंदिया जिला पुलिस बल अवैध गतिविधियों को अंजाम देने वाले अपराधियों से अपील कर रही है कि वे अपनी अवैध गतिविधियों और अवैध कारोबार से दूर रहें और अन्य वैध रोजगार की ओर रुख करें।

Related posts