गोंदिया: फुलचुर से निकला किसान कांग्रेस का बैलगाड़ी एवं डफली बजाओ शासन जगाओ, का भव्य मोर्चा आंदोलन…

367 Views

 

प्रतिनिधि।

गोंदिया महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेसी कमेटी के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष डॉ एनडी क्रिसान के मार्गदर्शन एवं सहयोग से किसान कांग्रेस गोंदिया के जिला अध्यक्ष जितेश राणे के नेतृत्व में किसान कांग्रेस के जिला समन्वयक नीलम हलमारे, तालुका किसान कांग्रेस के अध्यक्ष प्रशांत उर्फ गुड्डा लिल्हारे तालुका महासचिव इंजि राजीव ठकरेले इनके सामंजस्य से आंदोलन का आयोजन किया गया था। जिसमें तालुका कांग्रेस के अध्यक्ष सूर्यप्रकाश भगत, शहर महासचिव दलेश नागदोने, ओबीसी विभाग के तालुका अध्यक्ष सुशील खरकाटे, ओबीसी जिला सचिव अजय राहंगडाले, अनुसूचित विभाग के जिला सचिव विजय बरौडे, महासचिव अमित भालेराव, शहर अध्यक्ष अमर राहुल, किसान कांग्रेस के तालुका समन्वयक रेखलाल राहांगडाले, महासचिव चंद्र कुमार बागड़े इत्यादि इनका विशेष सहयोग प्राप्त हुआ। आंदोलन की शुरुआत ग्राम फूलचूर के बाजार चौक से ग्राम फूलपुर के मूल निवासी किसान तिलकचंद बघेले इनके हस्ते बैलबंडी तथा नागर की पूजा करके हुई।

 

अध्यक्ष के रूप में जिले के अध्यक्ष नामदेवराव किरसान, प्रमुखता से प्रदेश सचिव विनोद जी जैन, प्रदेश सचिव अमर वराडे, शहर अध्यक्ष जहीर अहमद, युवक कांग्रेस के अध्यक्ष आलोक मोहंती, एनएसयूआई के अध्यक्ष हरीश तुलसकर, वरिष्ठ कांग्रेसी श्याम बाबू गंनवीर, वरिष्ठ किसान कांग्रेसी दिलीप गौतम, महिला प्रतिनिधि प्रभाताई उपराडे, वंदना काले, ममता पाऊलझगडे, विधानसभा अध्यक्ष बाबा बागडे इत्यादि नेताओं की उपस्थिति में हुई।
आंदोलन का शुभारंभ महामारी को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए किया गया। सभी कार्यकर्ताओं तथा नेताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया और फूलचूर बाजार चौक से लेकर तो जयस्तंभ चौक तक किसान हित में नारे लगाते हुए संविधानिक रूप से आंदोलन किया।

आंदोलन में ग्रामीण क्षेत्र से सैकड़ों बैलगाड़ी लेकर किसान स्वयं से पहुंचे थें। नए जमाने में लुप्त हो गई बैलों के झूल पर्दे और गले में घोला आज इस किसान आंदोलन में देखने को मिला। आंदोलन में विशेष आकर्षण के रूप में डफली वाले थे जिन्होंने डफली बजाऊं शासन जगाओ की मुहिम के तहत जयस्तंभ चौक में रास्ता रोककर धरना आंदोलन दिया और किसान के हित में केंद्र सरकार को चेताया यह किसान ही है जो आपको अन्न खिलाता है। अगर इसके खिलाफ षड्यंत्र रचोगे तो भूखे मरने की बारी आ जाएगी। इसलिए केंद्र सरकार- मोदी सरकार होश में आओ और किसानों के किसान विरोधी या काला कानून वापस लो ऐसी चेतावनी भरी आवाज से नारे बुलंद किए। उसके पश्चात जय स्तंभ चौक पर ही हाथरस में जो पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद राहुल गांधी जी तथा राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी जी के साथ में जो दुर्व्यवहार उत्तर प्रदेश की सरकार ने पुलिस प्रशासन के माध्यम से किया उसका विरोध भी कांग्रेस पार्टी द्वारा किया गया। मोदी सरकार को भी चेताया गया कि अगर ऐसे ही बहन बेटियों के साथ में बलात्कार होते रहे तो जल्द ही इस देश की जनता इस भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकेगी।
आंदोलन में जिला महासचिव योगेश अग्रवाल, जीवन जी शरणागत, योगेश शरणागत, रोहित चौधरी, पंकज पिल्ले, संकेत कटाने इत्यादि शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र से सैकड़ों कार्यकर्ता व किसान मजदूर पहुंचे थे। जिसमें ग्राम नागरा से इंद्रकांत लिल्हारे, दुर्गा सिंह लिल्हारे, लिखीराम लिल्हारे योगेश लिल्हारे, संदीप लिल्हारे, अनिल रंणगीरे, हेमेंद्र लिल्हारे, ग्राम गर्रा से सुकलाल जी ठाकरे, झाड़ू डालटे, रामू ठाकरे, अंगत राऊत, तिलक दिहारी, महेश मर्सकोले, ग्राम ईर्री से सोमेश्वर ठकरेले, भुवनेश्वर टेंभरे, सोमेश्वर चौधरी, ग्राम रत्नारा से निखिल चिखलोंडे, राकेश खरोले, डीगेश लिल्हारे, लिखराम बनोटे, संजय बडोले इत्यादि कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।

Related posts