वरिष्ठ समाजसेवी अशोककुमार सक्सेना नहीं रहे, 74 साल की उम्र में ली बेंगलुरु में अंतिम सांस..

292 Views
गोंदिया। किसी समय में ट्रेनों की मांगो, अनियमितताओं को लेकर आवाज उठाने वाले, रेल यात्रियों को हो रही समस्याओं को अखबारों के माध्यम से उठाकर आवाज बुलंद करने वाले, सबअर्बन ट्रैन की मांग करने वाले एवं गोंदिया शहर की विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़कर अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभाने वाले वरिष्ठ समाजवादी अशोक कुमार सक्सेना का कल बैंगलोर में दुःखद निधन हो गया।
श्री सक्सेना, भूजल वैज्ञानिक रहे। वे सेवानिवृत्त होने के बाद गोंदिया के रामनगर स्थित आवास में ही रह रहे थे। उनकी साहित्य प्रेम के साथ ही लिखने में अत्यधिक रुचि रही। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी समाज सेवा व सादगी से रहकर ही व्यतीत की।
करीब 74 साल के सक्सेना पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे। उनके अस्वस्थ्य होने से उनके पुत्र ने इलाज हेतु उन्हें बेंगलुरु लेकर गए थे। जहां कल 19 मई को उनके निधन का समाचार प्राप्त हुआ।
उनके स्वर्गवास के समाचार से उनका संपूर्ण मित्र जगत आहत और व्यथित हुआ हैं। एड. योगेश अग्रवाल (बापू), पत्रकार जावेद खान, ने उनके निधन पर शोक सवेंदना व्यक्त कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और ईश्वर से उनकी आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देंने की प्रार्थना की।

Related posts