महाराष्ट्र का योगदान, नीति, देश के लिए प्रेरणा का स्त्रोत- उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़

1,168 Views

उपराष्ट्रपति धनखड़ बोले, सांसद प्रफुल पटेल कागजी नही जमीनी नेता..

प्रतिनिधि। 11 फरवरी
गोंदिया। स्व. मनोहरभाई पटेल स्वर्ण पदक वितरण समारोह में आये देश के उपराष्ट्रपति ने अपने संबोधन में महाराष्ट्र के विकास, देश की स्थिति एवं शिक्षा के साथ साथ किसान व कृषि पर संबोधित किया।
उपराष्ट्रपति श्री धनखड़ ने कहा कि, महाराष्ट्र ने उन्हें 7 बार आने का अवसर दिया। उन्होंने कहा महाराष्ट्र अमृतकाल से गुजर रहा है। राज्य में जमीनी स्तर पर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में बेहतर कार्य किये जा रहे है। महाराष्ट्र महान छत्रपति शिवाजी महाराज की पावन भूमि है जिनके आदर्शो को मानकर राज्य विकसित हो रहा है। महाराष्ट्र का योगदान, उसकी नीति देश के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है।
उन्होंने कहा, सांसद प्रफुल्ल पटेल ने राजनीति में लंबी पारी खेली है। उन्होंने अपने आदर्श पिता से जो पाया उसे वे आज भी निरंतर बढ़ा रहे है। मैं देखना चाहता था कि प्रफुल्ल पटेल राजनीति में सिर्फ कागजी नेता है या जमीनी। यहां आकर पता चला सांसद पटेल जमीन से जुड़े नेता है। वे अपने पिता द्वारा संचालित किए गए शिक्षा स्तर पर आदर्श पिता के आदर्श पुत्र बनकर पिता के कार्यो का अनुसरण कर रहे है।
उपराष्ट्रपति ने आगे कहा, देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकसित हो रहा है। देश का बदलाव दुनिया देख रही है। हम आज मजबूत अर्थव्यवस्था के साथ 5वें क्रमांक पर है। 2047 तक हम जर्मनी और जापान को भी पीछे छोड़ देंगे। देश में बदलाव तब आता है जब आम आदमी में परिवर्तन आता है। आम आदमी की स्थिति बदली है। कृषि में हम आगे बढ़ रहे है। देश का किसान विकसित हो रहा है।
सांसद प्रफ़ुल्ल पटेल के हस्ते उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, श्रीमती धनखड़ का पुष्प गुच्छ व स्मृति चिन्ह देकर स्वागत किया गया। इस दौरान उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, राज्यपाल रमेश बैस, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, सांसद श्रीकांत शिंदे, सांसद सी रमेश, राहुल कासवान व अन्य मान्यवरों के हस्ते प्रावीण्यता प्राप्त गोंदिया-भंडारा जिले के छात्र छात्राओं का सुवर्ण पदक, सम्मान पत्र, देकर सत्कार किया गया। वही सामाजिक स्तर पर उत्कृष्ट कार्य करने वालों का सत्कार किया गया।

Related posts