संयुक्त जयंती समारोह में मुस्लिम महिलाओं ने किया सावित्रीबाई फुले, राजमाता जिजाऊ, फातिमा शेख के विचारों को आत्मसात..

254 Views
गोंदिया।
मुस्लीम महिलाओं द्वारा पहली बार राजमाता जिजाऊ, क्रांतिज्योति सावित्रीबाई फुले और प्रथम मुस्लिम शिक्षिका फातिमा शेख इनकी सयुंक्त जयंती रामनगर स्थित, मनोहर कॉलोनी रोड पर सैकड़ो महिलाओं की उपस्थिति में उत्साह के साथ मनाई गई।
इस महिला सम्मेलन में सभी समुदाय की महिलाओं ने एकसाथ आकर एकजुटता व कौमी एकता की मिसाल कायम की।
कार्यक्रम की शुरुवात सभी महापुरुषों को याद करते हुए माता जिजाऊ, माता सावित्री और माता फातिमा शेख इनकी छायाचित्र पर माल्यार्पण कर व अभिवादन कर की गई।
कार्यक्रम में संविधान प्रस्तावना शमा शेख द्वारा पढ़कर की गई। कार्यक्रम की प्रस्तावना नाज़मा कुरैशी ने पड़ी।
उक्त कार्यक्रम की अध्यक्षता नंदिनी चानपूरकर पुलीस उपअधिक्षक (गृह.) गोंदिया, उद्घाटक समशेर पठान तहसीलदार गोंदिया, प्रमुख अतिथी के रूप में संदेश केंजळे पोलीस निरीक्षक रामनगर थाना, संजय सांगेकर (महिला आर्थिक विकास महामंडल गोंदिया), रोहिणी साखरे ( माविम
सहयोगी गोदिया), सोनवाने साहब अप्पर तहसिलदार गोंदिया प्रमुखता से उपस्थित थे।
कार्यक्रम के उद्घाटक तहसीलदार शमसेर पठान ने अपने मार्गदर्शन में कहा की, मेरी माँ ने अल्प शिक्षा ग्रहण की, पर शिक्षा क्या होती है उसकी ताकत क्या होती ये उन्होंने आत्मसात कर मुझे पढ़ाकर आज तहसीलदार पद तक पहुँचाने का कार्य किया। उन्होने हमेशा पढ़ाई लिखाई पर
ही जोर दिया।
रामनगर थाना के पुलिस निरीक्षक संदेश केंजळे ने कहा कि मुस्लिम महिला द्वारा समाज के महिलाओ में जनजागृती करना यह अत्यंत सराहनीय कदम है।
कार्यक्रम का संचालन मोहसीन खान और सईम कुरैशी ने किया। आभार अमरीन कुरैशी ने किया।
कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए समीम अली, सगुफ्ता अली, नशरीन कुरैशी, रेशमा रहेमान, फिरोजा कुरैशी, आशमा शेख, नाजनीन शेख, एजंल अली, अमन अली एवं समस्त मुस्लिम महिला बचत गट रामनगर, गोंदिया ने अथक परिश्रम कर कार्यक्रम को सफल बनाया।

Related posts