गोंदिया: ग्रामीणों के विरोध और कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच अतिक्रमण पर चला बुलडोजर

444 Views

 

बिरसी विमानतल प्राधिकरण द्वारा 106 परिवारों के पुनर्वास हेतु की गई कार्रवाई, बेघर ना करते हुए कंपाउंड वाल, बाथरूम, मवेशियों के तबेले तोड़े..

हकीक़त न्यूज।
गोंदिया। तहसील के ग्राम बिरसी में भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण द्वारा विमानतल व विमान प्रशिक्षण केंद्र बनाया गया है। इसके लिए अनेकों जगह प्राधिकरण द्वारा अधिग्रहित की गई। इनमें ग्राम बिरसी विमानतल के आरक्षित परिसर में 106 परिवारों का पुनर्वसन किये जाने का मामला अनेक दिनों से लटका हुआ था जिसके चलते पुनर्वास का कार्य अधूरा पड़ा था।

इसी के चलते आज 4 नवंबर 20 को जिला प्रशासन व बिरसी विमानतल प्रशासन द्वारा पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में वहां अतिक्रमण कर बैठे लोगों को पहले चरण में बेघर ना करते हुए अतिक्रमण किया हुआ वाल कंपाउंड, बाथरूम और मवेशियों के तबेले तोड़ने की कार्रवाई की गई।

अतिक्रमण की तोड़ू दस्ते की कार्रवाई के दौरान वहां पर रह रहे ग्रामीणों ने इसका विरोध करते हुए कहा कि अतिक्रमण हटाने की पूर्व में सूचना नहीं दी गई । जबकि विमान प्राधिकरण का कहना था कि सूचना की कार्रवाई कई बार दी जा चुकी है, फिर भी ये अतिक्रमण छोड़ने को तैयार नही थे। ग्रामीणों ने कहा आकस्मिक इस कार्रवाई से उन पर अन्याय शासन द्वारा किया जा रहा है। जिसके चलते उन्हें मुआवजा दिया जाए।

उपरोक्त कार्रवाई उपविभागीय अधिकारी अनिल खड़तकर, नायब तहसीलदार पालंदुरकर, पटवारी शरणागत, उपविभागीय पोलीस अधिकारी जगदीश पांडे, पुलिस निरीक्षक रावणवाड़ी के मार्गदर्शन में की गई। इस दौरान प्रशासन द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे।

इस संदर्भ में बिरसी विमानतल के निर्देशक सचिन खंगार ने जानकारी दी कि उपरोक्त जमीन पर 106 परिवारों का पुनर्वासन किया जाना था लेकिन अतिक्रमण के चलते पुनर्वासन का कार्य रुका हुआ था। जिसके लिए अतिक्रमण पर शासन के नियमानुसार कार्रवाई की गई। हालांकि प्रथम तौर पर पूरी कार्रवाई ना करते हुए सिर्फ बाहरी हिस्सा, तबेले ही तोड़े गए। उन्हें संभलने का एक अवसर दिया गया है।

Related posts