गोंदिया: दो साल से फरार विदर्भ ग्रामीण पतसंस्था का अध्यक्ष बैस और संचालक राऊत गिरफ्तार..

1,541 Views

संस्था व खातेदारों से 1 करोड़ 10 लाख 87 हजार रुपयों की धोखाधड़ी कर फरार थे आरोपी, सालेकसा पुलिस ने की कार्रवाई

रिपोर्टर। 20 जुलाई
गोंदिया। वर्ष 2019 में जिले के सालेकसा थाना क्षेत्र के साखरीटोला में संचालित विदर्भ ग्रामीण बिगर शेती पत संस्था मर्या. साखरीटोला के अध्यक्ष व अभिकर्ता योगेशसिंह शेरसिंह बैस, संस्था के संचालक व रेकॉर्ड लिखने वाले व्यक्ति प्रहलाद भाऊदास राऊत तथा संस्था की कर्मचारी सौ. अल्का योगेशसिंह बैस ने सांठगांठ कर संस्था के जमाकर्ता, संस्था की कैशबुक से रुपयों की अफरातफरी करने, बोगस कर्जदारों को कर्जा वितरित करने, खुद के फायदे के लिए संस्था का जमा पैसा खर्च करने व फिजूल खर्च कर करीब 1 करोड़ 10 लाख 87 हजार 194 रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला आडिट रिपोर्ट में सामने आने पर फिर्यादि लेखा परीक्षक राजेश पांडुरंग बावनथड़े द्वारा सालेकसा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। जिसके तहत सालेकसा पुलिस ने अपराध क्र 320/ 2019 धारा 406, 409, 420, 34 एवं सह कलम 3 महाराष्ट्र ठेवीदार (वित्तीय आस्थापना) हित सम्बंध सरंक्षण अधिनियम 1999 के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही थी।
करीब दो साल से ये आरोपी फरार थे। पुलिस ने अनेक बार घर पर दबिश दी, परिजनों के यहां पूछताछ की पर ये शातिर धोखेबाज अपना सभी संपर्क तोड़कर लुप्त हो गए थे। लेकिन सालेकसा पुलिस ने इस मामले में निरंतर सक्रिय होकर अपना नेटवर्क शुरू रखा। इसी सक्रियता के चलते सालेकसा पुलिस को आखिरकार सफलता प्राप्त हुई तथा पुलिस ने गोपनीय सूत्र व अपनी सूझबूझ से जाल बिछाकर दोनों आरोपियों को 20 जुलाई 2021 को अलग अलग समय मे गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की। फिलहाल दोनों आरोपी सालेकसा पुलिस के कस्टडी में है।
ये कार्रवाई पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अशोक बनकर, एसडीपीओ आमगांव-देवरी जालिंदर नालकुल के मार्गदर्शन में सालेकसा के थानेदार सहायक पुलिस निरीक्षक प्रमोदकुमार बघेले, सपुनि सुनील जानकर, पुउपनि भीष्मराज सोरते, सफौ बड़वाईक, पोना बिजेंद्र बिसेन, प्रमोद सोनवाने, खोब्रागडे, यादव, बंसोड़ ने की।

Related posts